Thursday, 30 May 2013

School Managment Commeette


विधायल प्रबंधन समिती
भारत सरकार के द्वारा पारित अधिनियम “शिक्षा के अधिकार “ २००९ के अंतर्गत 6 से १४ वर्ष के बच्चे को मुफ्त एवं अनिवार्य  शिक्षा उपलब्ध करना का कानून पारित किया इस कानून के अंतर्गत समुदाय की सहभगिता को स्कूल के प्रबंधन कार्य में सुनिश्चित करने के किये “विधायल प्रबंधन समिती” का गठन करने की संकल्पना की है,तथा इसे हर सरकारी विधायल मैं बनाने के लिए अनिवार्य किया है.
विधायल प्रबंधन समिती की गठन की संरचना
·         राज्य के प्रतेक विधायल में समिति का गठन होना जरुरी है
·         समिती का गठन निर्वाचन से किया जायेगा,जिसमे विधायल में नामांकित बच्चो के माता/पिता ही भाग ले सकेगे.
·         समिति मैं 75% अभिभावक सदस्य रहेगे,समिति की कुल संख्या 14 होगी जिसमे 12 सम्बंधित स्कूल मैं पढने वाले बच्चो के माता/पिता  होगे.
·         समिति मैं दो सदस्य अनिवार्य होगे एक सम्बंधित विधायल का प्रधानाध्यापक/शिक्षक और विधायल जिस वार्ड में आता है उसका वार्ड मेम्बर.
·         समिति का कार्यकाल तीन वर्ष का  होगा

तदर्थ समिति
बिहार राज्य में विधायल प्रबंधन समिती के स्थान पर “तदर्थ समिती” का गठन किया जाया है इसकी मूल संरचना “विधायल प्रबंधन समिती” जैसी ही रखी गई है पर इसमें महत्वपूर्ण बदलाव किये गए है.
·         तदर्थ समिती में सदस्यों की संख्या कुल 6 रखी गई है,जिसमे सम्बंधित विधयाला में नामांकित बच्चो के4 माताए होती है. (कक्षा 2 और अंतिम कक्षा में पढने वाले बच्चो की दो-दो माता)
·         समिति में दो सदस्य अनिवार्य होगे एक सम्बंधित विधायल का प्रधानाध्यापक/शिक्षक और विधायल जिस वार्ड में आता है उसका वार्ड मेम्बर.
·         समिती का निर्वाचन प्रतेक वर्ष होना है.
विधायल प्रबंधन समिती/तदर्थ समिती के कार्य
समिति को कानून के अंतर्गत निम्लिखित जिम्मेदारी प्रदान की गई है
·         विधायल के पोषक क्षेत्र के अन्दर आने वाले 6 से 14 वर्ष के सभी बच्चो का शत-प्रतिशत नामांकन
होना सुनिश्चित कराना
·         विधायला भवन निर्माण,मध्यन भोजन की देखभाल
·         स्कूल समय पर खुलना और बंद हो  रहा है
·         शिक्षको की उपस्तिथि को देखना
·         शिक्षक बच्चो को मरे-पिटे,दुर्वेव्हार,भेदभाव करे तो समिति के निर्णय से उसकी शिकायत पधाधिकारी को करना
·         वितीय वर्ष के 2 माह पहले विधायल विकास योजना बनाना तथा प्रखंड शिक्षा पधाधिकारी के साथ जिला में प्रेषित करना
·         प्रतेक माह  में बैठक और बैठक की कार्यवाही पंजी मैं सभी सदस्यों के हस्ताक्षर हो
·         शिक्षक बच्चो को पढ़ा रहे है या नहीं
·         विधयाला साफ़-सुधरा है की नहीं
·         सभी बच्चो के पास पुस्तक है की नहीं
·         सभी बच्चे पोशाक मैं है की नहीं

कल्पवृक्ष ! है हम सभी

बहुत देर तक चलते रहने से वो थक गया थाI एक विशाल पेड़ के नीचे आकर उसने कहा आराम कर लेता हूँ और उसका मन और शरीर थकान से मुक्त हो गयाI उसके ...